शनिवार, 13 जून 2020

Sampurna Hanuman chalisa lyrics-pdf download

Sampurna Hanumaan Chalisa|pdf|


दोस्तों, हनुमान जी को महावीर,संकट मोचक,राम भक्त और सैकड़ो अन्य नामो से जाना जाता है।ऐसा माना गया है कि जो हनुमानजी को प्रसन्न कर लेता है।उसका मंगल ही मंगल होता है।हिन्दू मान्यताओं के हनुमान जी का जन्म मंगलवार को हुआ था।और यही वजह है,की मंगलवार को उनकी पूजा सबसे शुभ मानी जाती है।वैसे तो बड़े बड़े विद्वानों ने उनकी महिमा का वर्णन अपने तरीकों से किया है।पर इसका सबसे सटीक विवरण Hanuman chalisa में मिलता है।आज के अपने इस पोस्ट में हम आपको Sampurna Hanuman chalisa आप को बताएंगे आप की अपनी भाषा Hindi में।साथ ही आपको अवगत कराएंगे Sampurna hanuman chalisa lyrics से।और इसके साथ आप यहां से Sampurna hanuman chalisa को pdf और mp3 दोनो format में download भी कर पाएंगे सिर्फ एक click से।

Download mp3 hanuman chalisa





Lord Hanuman ji ,image source -google

Also see

Benefits Of Tuesday Fast and it's complete process


Makers of this Hanuman chalisa song



Singer-Hari haran

Music-Lalit sen

Lyrics-Goswami Tulsi Das

Production by-T series


Sampurna hanuman chalisa lyrics



दोहा
श्री गुरु चरण सरोज रज
निज मन मुकुर सुधारि
बरनउ रघुवर विमल जसु
जो दायकु फल चारि
बुद्धि हीन तनु जानिके
सुमिरो पवन कुमार
बल बुद्धि विद्या देहु मोहि
हरहु कलेश विकार
म्यूजिक

चौपाई
जय हनुमान ज्ञान गुण सागर
जय कपीस तिहु लोक उजागर
रामदूत अतुलित बल धामा
अंजनी पुत्र पवन सुत नामा
म्यूजिक

महावीर विक्रम बजरंगी
कुमति निवारि सुमति के संगी
कंचन वरन बिराज सुबेसा
कानन कुंडल कुंचित केसा
हाथ वज्र और ध्वजा विराजे
कांधे मूज जनेऊ साजे
शंकर सुमन केसरी नंदन
तेज प्रताप महा जग वंदन
विद्यावान गुणी अति चातुर
राम काज करिबे को आतुर
प्रभु चरित सुनिबे को रसिया
राम लखन सीता मन बसिया
सूक्ष्म रूप धरि सिया हि दिखावा
विकट रूप धरि लंक जारवा
भीम रूप धारि असुर संहारे
राम चन्द्र के काज संवारे
म्यूजिक

लाये संजीवन लखन जियाए
श्री रघुवीर हरषि उर लाए
रघुपति किन्ही बहुत बड़ाई
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई
सहस तुम्हरो जस गावै
अस कही श्री पति कंठ लगावै
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा
नारद सारद सहित अहिसा
म्यूजिक

जम कुबेर दिगपाल जहां ते
कवि कोविद कही सके कहां ते
तुम उपकार सुग्रीव हि कीन्हा
राम मिलाय राज पद दीन्हा
तुम्हरो मंत्र विभीषण माना
लंकेश्वर भई सब जग जाना
जुग सहस्त्र जोजन पर भानु
लीलयहो ताहि मधुर फल जानू
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही
जलधि लांघ गयो अचरज नाही
दुर्गम काज जगत के जेते
सुगम अनुग्रह तुम्हरो तेते
राम दुवारे तुम रखवारे
होत न आज्ञा बिनु पैसारे
सब सुख लहे तुम्हारी सरना
तुम रक्षक काहू को डरना
म्यूजिक

आपन तेज सम्हारो आपै
तीनो लोक हांक ते कांपै
भूत पिशाच निकट नही आवै
महावीर जब नाम सुनावै
नाशै रोग हरे सब पीड़ा
जपत निरंतर हनुमत वीरा
संकट ते हनुमान छुड़ावै
मन क्रम वचन ध्यान जो लावै
सब पर राम तपस्वी राजा
तिनके काज सकल तुम साजा
और मनोरथ जो कोई लावै
सोई अमित जीवन फल पावै
चारो जुग प्रताप तुम्हारा
है प्रसिद्ध जगत उजियारा
साधु संत के तुम रखवारे
असुर निकंदन राम दुलारे
म्यूजिक

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता
असवर दीन जानकी माता
राम रसायन तुम्हरे पासा
सदा रहो रघुपति के दासा
तुम्हरो भजन राम को पावै
जन्म जन्म के दुख बिसरावै
अंत काल रघुवर पुर जाई
जहां जन्म हरि भक्त कहाई
और देवता चित्त न धरई
हनुमंत से ही सर्व सुख करई
संकट कटे मिटे सब पीड़ा
जो सुमिरै हनुमंत बल वीरा
जय जय हनुमान गोसाइँ
कृपा करहु गुरु देव की नाई
जो सत वार पाठ करे कोई
छुटहि बंदी महा सुख होइ
म्यूजिक

जो यह पढ़े हनुमान चलीसा
होय सिद्ध साखी गौरीसा
तुलसीदास सदा हरि चेरा
कीजै नाथ हृदय मह डेरा
कीजै नाथ हृदय मह डेरा
चौपाई समाप्त

दोहा
पवन तनय संकट हरण
मंगल मूरति रूप
राम लखन सीता सहित
हृदय बसहु सुर भूप
म्यूजिक
समाप्त

Also see

Thursdays Fast Food Recipe & it's Benifit



Download hanuman chalisa pdf














8 टिप्‍पणियां:

  1. thankyou brother bohot din se aisa detailed article dhund raha tha hunuman chalisa par!
    thank you bhai
    by the way great article!

    जवाब देंहटाएं

Please do not enter any spam link in the comment box