बुधवार, 22 अप्रैल 2020

Thursday Fast Food Recipes:बृहस्पतिवार के व्रत में क्या खाएं और क्या नही?

Lifestyle|Thrusday Fast food recipe|


Thursday fast भगवान बृहस्पति जो कि भगवान के ही एक रूप हैं, की पूजा अर्चना और आराधना से जुड़ा Vrat है।यह fast पूरे दिन यानी 24 घंटे का होता है।आज के लेख में हम जानेंगे Thrusday fast से आपको क्या benefits होंगे।आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि,आपको इसे क्यों करना चाहिए।इस फ़ास्ट का process क्या है।और साथ ही जानेंगे Thrusday fast की क्या food recipies है,जिससे आप इस व्रत को बड़ी आसानी से कर पाएंगे।और ये सभी information हम आपको आपकी भाषा हिंदी में देंगे।ताकि आप इस article को पढ़ कर आसानी से इस fast को कर सकें।

                       Image source-Google

Also see


10 amazing facts related to the lifestyle of varun dhawan


तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि बृहस्पतिवार का व्रत क्यों करना चाहिए


साथियों, बृहस्पतिवार को भगवान बृहस्पति की पूजा अर्चना की जाती है।भगवान बृहस्पति,भगवान विष्णु के ही स्वरूप हैं।जिन्हें हिन्दू मान्यता के अनुसार संसार के पालक के रूप में जाना जाता है।अगर आपके बनते काम बिगड़ रहे हो,तो इस व्रत के करने से वह बाधा पूरी तरह दूर हो जाती है।इसके साथ ही इस व्रत के करने से संसार की सभी भौतिक सुविधाएं भी प्राप्त होती है।यानी,अगर सरल भाषा मे कहा जाए तो यह व्रत करने से व्यवसाय में उनत्ति और धन धान्य की प्राप्ति होती है।यह व्रत 24 घंटे का होता है।जिसमें दिन में आप फलाहार कर सकते हैं।और शाम को पूजा के बाद बिना नमक वाला कहना खा सकतें हैं।

बृहस्पतिवार व्रत एवं उसे करने की विधिसुबह की पूजा


दोस्तों इस दिन सुबह उठकर दैनिक क्रिया के बाद जल से स्नान कर लें।पर किसी भी प्रकार के साबुन का प्रयोग इस व्रत में वर्जित है।उसके पश्चात, सभी पूजा की सामग्री जैसे धूप,दीप, एवं फूल से अपनी पूजा करें।नैवद्य में गुड़ और पीले चने की दाल का प्रयोग करें।सभी सामग्रियों को एकत्रित करने के बाद भगवान बृहस्पति को अर्पित कर दे।और उसके बाद बृहस्पतिवार व्रत की कथा का पाठ करें।पूजा के दौरान आप 108 बार भगवान बृहस्पति के मंत्र ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नमः का जाप भी लाभकारी माना जाता है।इस दिन यदि इस पूजा को केले के वृक्ष के समीप किया जाए तो इसके बेहतर परिणाम होते हैं।नहीं तो आप इसे घर मे भी कर सकते हैं।

शाम की पूजा


इसी प्रकार इस दिन शाम को भी जल से हाथ पैर धोकर इसी प्रकिया का पालन करें।और आखिर में आरती के बाद गुड़ और चने का प्रसाद भगवान को भोग लगा कर खा लें।इस व्रत को स्त्री और पुरुष दोनों ही कर सकते हैं।

बृहस्पतिवार व्रत की फ़ूड रेसिपी


दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर भी बताया है कि भगवान बृहस्पति का ये व्रत 24 घंटे यानि, पूरे दिन का होता है।इसलिए यह जानना आवश्यक है कि इस व्रत में क्या खा सकते हैं।

दिन में करें फलाहार


बृहस्पतिवार के व्रत में अन्य दूसरे व्रत की तरह दिन में फलाहार करना चाहिए।इसमे आप केले को छोड़ कर कोई भी फल जैसे अंगूर, पपीता, सेब,संतरा या कोई भी अन्य उपलब्ध फलखा सकते हैं।इसके अलावा दूध या दही भी खा सकते हैं।
                      Image source-Google


अब बात करते है शाम के खाने की 5 रेसिपीज की

1.खाएं रोटी और दूध



दोस्तों शाम की पूजा खत्म करके गरमा गरम रोटियां पका लें, और उसे दूध में मिला लें और थोड़ी सी चीनी डालकर खाएं।यह आहार ठोस और पौष्टिक होता है।साथ ही यह खाने में भी टेस्टी होता है।

2.खाएं रोटी और बिना नमक की सब्ज़ी


दोस्तों गरमा गरम रोटी के साथ आप कोई भी उलब्ध सब्ज़ी भी इस दिन कहा सकते हैं।सब्ज़ी को अच्छी तरह काटकर धो लें।और उसमें स्वाद अनुसार हल्दी,मिर्च,धनिया पाउडर मिलाकर पका लें।फिर इसे रोटी के साथ खाएं।इससे आपके शरीर मे शक्ति बरकरार रहेगी।इससे आप को ये व्रत करने में कठिन नही लगेगा।

3.खाएं बेसन के लड्डू,जलेबी या मिठाइयां


दोस्तों बृहस्पति वार व्रत में शाम के खाने में आप बेसन के पीले लड्डू, जलेबियाँ, या कोई और मिठाई घर पर बनाकर,या मार्किट से लाकर खा सकते हैं।इससे आप अच्छे से कहना खा पाएंगे।और आपका शरीर एनरजेटिक रहेगा।

4.खाएं गुड़ की खीर और सूजी का हलवा


दोस्तों इस दिन आप गुड़ की खीर बनाकर भी खा सकते हैं।इसके लिए पहले दूध को अच्छी तरह उबाल लें।और उसमें चावल और गुड़ मिलाकर खीर बना लें।इसलके अलावा आप सूजी और बेसन का हलवा बनाकर भी शाम के कहने में खा सकते हैं।

5.खाने के बाद खाएं ड्राई फ्रूट्स


दोस्तों शाम के खाने के बाद आप काजू,बादाम,किशमिश या अन्य कई ड्राई फूट्स भी दूध के साथ खा सकते हैं।इससे आपको थकान महसूस नहीं होंगी और आप चुस्त-दुरुस्त रहेंगे।

दोस्तों  ये तो बात हो गई कि बृहस्पतिवार के व्रत में आप क्या खा सकते है।आइए अब बात करते हैं कि इस दिन क्या ना खाएं।


1.इस दिन भूलकर भी केला या उससे बने अन्य प्रोडक्ट्स ना खाएं।

2.इस दिन खाने में किसी भी प्रकार के नमक का प्रयोग ना करें।


बृहस्पतिवार के व्रत में भी भूल कर भी ना करें ये काम

1.दोस्तों भगवान बृहस्पति का ये व्रत सादगी का प्रतीक है।इसलिए इस दिन नहाते समय साबुन का प्रयोग ना करें।

2.इस दिन किसी भी प्रकार का तेल या क्रीम शरीर पर ना लगाएं।

3.इस दिन बाल , नाखून या शेव ना बनाए।

दोस्तों इस आर्टिकल पर अपने सुझाव हमें कमेन्ट करके ज़रूर बताएं।और आर्टिकल पसंद आने पर हमें फ़ॉलो करना ना भूलें।

Also see

Benifits and impact of Tuesday fast

Article source-Google,Aaina 18

Drafted by Sanjeev jha

1 टिप्पणी:

Please do not enter any spam link in the comment box